Uttarakhand Police Unlock Guidelines

  • उत्तराखण्ड आने वाले सभी व्यक्तियों के लिये स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल / पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।
  • आने वाले सभी लोगों को अनिवार्य रूप से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा।
  • पंजीकरण के दौरान, पंजीकरण, पोर्टल में मांगे गए संबन्धित दस्तावेज अपलोड करने होगे।
  • जिला प्रशासन सीमा चौकियों, हवाई अड्डा रेलवे स्टेशनों, जिले के बस स्टैण्ड पर सभी आने-जाने वाले व्यक्ति के थर्मल स्कीनिंग की व्यवस्था करेगा। यदि व्यक्ति में कोविड-19 के लक्षण पाये जाते हैं, तो जिला प्रशासन द्वारा एंटीजन टेस्ट पॉजिटिव पाया जाता है तो इससे सम्बन्धित उपयुक्त एसओपी का पालन किया जाएगा। सार्वजनिक जगहों पर सभी व्यक्तियों को सामाजिक दूरी का पालन और मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
 

क्वारंटाइन

  • यदि किसी विशेष कार्य (व्यापार, परीक्षा, उद्योग, कार्य, व्यक्तिगत संकट आदि) के लिए 07 दिनों से कम समय के लिये आते हैं, तो वे अपने कार्य में शामिल हो सकते हैं, लेकिन अपने स्वास्थ्य की निरंतर निगरानी करनी होगी और किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण से सम्पर्क करेंगें। उन्हे पंजीकरण में अनिवार्य रूप से अपना घर/रहने की जगह का पता देंगे और जिला प्राधिकारी ऐसे व्यक्तियों की अनियमित जांच करेंगे। यदि पते गलत पाये जाते हैं, तो ऐसे व्यक्ति के खिलाफ डीएम अधिनियम के तहत कार्यवाई की जाएगी।
  • लंबी अवधि के लिये आने वालों को होम क्वारंटाइन या संस्थागत क्वारंटीन (सेना एवं अर्धसैनिक बलों के मामलो में, आदि ) में 40 दिनों के लिये रखा जायेगा और उनके स्वास्थ्य की स्व:निगरानी करेंगे। यदि उनमें लक्षण पाये जाते है तो वे स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण से संपर्क करेंगे। पंजीकरण में अनिवार्य रूप से अपना घरपता देंगे और जिला प्राधिकरण ऐसे व्यक्तियों की नियमित जांच करेगें। यदि पते गलत पाये जाते हैं, तो ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ डीएम अधिनियम के तहत कार्यवाही शुरू की जायेगी।
  • आधिकारिक कार्यो के लिये आने जाने के मामलों में भारत सरकार के मंत्रियों, राज्य सरकार के मंत्रियों, मुख्य न्यायाधीश और उच्चतम न्यायालय व उच्च न्यायालयों के अन्य न्यायाधीश, जिले के अन्य न्यायिक अधिकारी और राज्य के अधीनस्थ न्यायपालिका, महाधिवकता, मुख्य उत्तराखण्ड के उच्च न्यायालय, उत्तराखण्ड के सांसदों और विधायकों में स्थायी वकील और अन्य सरकारी अधिवक्ता, भारत सरकार के सभी अधिकारी, राज्य सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपकमों, केन्द्र सरकार राज्य सरकार के संगठनों के साथ-साथ उनके सहायक कर्मचारियों को छूट से बाहर रखा जाएगा।
  • उत्तराखण्ड के अधिकारी 05 दिनों से अधिक की अवधि के बाद राज्य में लौटते हैं, वे अपना कोविड परीक्षण करवाएंगे जो कि उनके संबंधित संस्थानांे/विभागों द्वारा सुनिश्चित किया जाना है।
  • उत्तराखण्ड से 05 दिनों की अधिकतम अवधि के लिए राज्य के बाहर यात्रा करने वाले सभी व्यक्तियों को वापसी पर छूट दी जाएगी। हालांकि, 05 दिनों से अधिक समय के लिए यात्रा मामलों में, ऐसे व्यक्तियों को 10 दिनों का होम क्वारंटीन होना होगा और उनकी स्वास्थ्य स्थिति की भी बारीकी से निगरानी करनी होगी।
  • उत्तराखण्ड सीमा पर आने से 96 घंटे (04 दिन) पहले या वापसी पर निगेटिव रिपोर्ट के साथ आरटीपीसीआर/ट्रूनाट/बीसीएनएटी/एंटीजन टेस्ट से गुजरने पर सभी व्यक्तियों को होम क्वारंटीन से छूट दी जाएगी।
  • राज्य नियंत्रण कक्ष (कोविड-19) सभी आने जाने वाले व्यक्तियों पर नजर रखेगा। इन व्यक्तियों द्वारा अपलोड किए जा रहे विभिन्न दस्तावेजों की भी जांच करेगा। यह इन सभी लोगों की होम क्वारंटाइन, होम आइसोलेशन की स्थिति का लगातार पता लगाएगा और यदि इसमें कोई विसंगति पाया जाता है तो सम्बंधित जिला अधिकारियों को रिपोर्ट करेगा।
 

विदेश से आने वाले व्यक्ति

  • विदेशों से उत्तराखण्ड आने वाले व्यक्ति भारत सरकार के एमएचए और एमओएचएफडब्ल्यू के नियमो के अनुसार क्वारंटीन होगें,
 

पर्यटक

  • परिवहन के सभी साधनों द्वारा उत्तराखण्ड आने वाले पर्यटकों को स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल / पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।
  • उत्तराखण्ड आने वाले पर्यटकों को स्मार्ट सिटी की बेवसाइट पर पंजीकरण कराना होगा। उत्तराखण्ड में होटल और होमस्टे में न्यूनतम अवधि के निवास का कोई प्रतिबन्ध नहीं होगा। होटल होम स्टे में चेक इन से पहले कोविड निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट की जरूरत नहीं होगी।
 

उत्तराखण्ड के भीतर व्यक्तियों की अंतर जनपदीय

  • उत्तराखण्ड के भीतर जिले से जिले की यात्रा करने वाले व्यक्ति अपनी यात्रा से पहले स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल / पर अनिवार्य रूप से पंजीकरण करेंगे
  • राज्य में अंर्तजनपदीय आवागमन के दौरान किसी को भी क्वारंटीन नहीं होना होगा यदि कोविड संक्रमित पाये गये तभी क्वारंटीन होना होगा।
  • परीक्षा आदि के लिये बाहर से आने वाले छात्र, अभिभावक व शिक्षक स्मार्ट सिटी की बेवसाइट पर पंजीकरण करायेगें। उन्हें आरटीपीसीआर टेस्ट नहीं कराना होगा।
  • जिला प्रशासन सार्वजनिक परिवहन का संचालन करायेगा। यह सुनिश्चित करगेा कि छात्र, अभिभावक व शिक्षक आदि को इसकी सुविधा मिल जाये।
  • उपचार प्रदान करने वाले चिकित्सक के द्रारा ऐसे व्यक्ति को लक्षणरहित (asymptomatic)रोगी के रूप में चिन्हित किया गया हो।
  • 24 घण्टे रोगी की देखभाल करने के लिए देखभाल करने वाला एक व्यक्ति (care giver) उपलब्ध हो।
  • सम्पूर्ण आइसोलेशन अवधि के दौरान देखभाल करने वाले व्यक्ति एव सम्बन्धित चिकित्सालय के मध्य सम्पर्क बनाये रखना होम-आइसोलेशन के लिए प्रमुख अनिवार्यता है।
  • ऐसे रोगी के निवास पर स्वयं को आइसोलेट करने एव परिजनों को क्वारंटीन करने की सुविधा उपलब्ध हो। घर में रोगी के लिए एक शौचालय युक्त कक्ष एव उसकी देखभालकर्ता (care giver)के लिए एक अतिरिक्त शौचालययुक्त कक्ष अनिवार्य रूप से होना चाहिए। यदि परिवार में रोगी और देखभालकर्ता(care giver)के अतिरिक्त अन्य व्यक्ति भी है, तो उनके लिए न्यूनतम एक और शौचालययुक्त कक्ष होना अनिवार्य है।
  • ऐसे रोगी जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है या अन्य बीमारी से ग्रसित हैं (co morbid)गर्भवती महिलाएं,10 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश एच0आई0वी0,अंग-प्रत्यारोहित, कैंसर का उपचार प्राप्त करने वाले, कमजोर है, वे होम-आइसोलेशन के लिए पात्र है।
  • ऐसे घर जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के या अन्य बीमारी से ग्रसित व्यक्ति है (co morbid) गर्भवती महिलाएं,10 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश एच0आई0वी0,अंग-प्रत्यारोहित, कैंसर का उपचार प्राप्त करने वाले,कमजोर है,उस घर में होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • देखभाल करने वाले व्यक्ति (care giver)एवं रोगी के नजदीकी सम्पर्को को प्रोटोकॉल एवं उपचार प्रदान करने वाले चिकित्सक के परामर्श के अनुसार हाइडाॅक्सीक्लोरोकीन प्रोफाइलेक्सिस लेनी होगी।
  • लिंक www.mygov.in/aarogya.setu.app/ पर उपलब्ध आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप को मोबाइल पर डाउनलोड करना होगा तथा इस ऐप को ब्लूटूथ एवं वाई-फाई के माध्यम से सदैव सक्रिय रखना होगा। इसके साथ ही दिन में दो बार इस ऐप में सूचना को अपडेट करना होगा। स्मार्ट फोन न होने की दशा में रोगी के द्रारा नियंत्रण कक्ष के दूरभाष पर अपने स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी देनी होगी।
  • स्वास्थ्य विभाग के द्रारा विकसित किए गए आइसोलेशन ऐप http//dgmhuk&covid19.in/covid19.apk को मरीज को अपने स्मार्ट फोन पर डाउनलोड करना होगा एवं नियमित रूप से समस्त जानकारी भरनी होगी।
  • रोगी को अपने स्वास्थ्य के नियमित अनुश्रवण के दायित्वों को स्वीकार करना होगा तथा सम्बन्धित जनपद के जिला सर्विलास अधिकारी इसकी नियमित सूचना प्रदान करनी होगी।
  • रोगी को संलग्नक-01 पर सेल्फ आइसोलेशन है तो एक अन्डरटेि कंग देनी होगी तथा क्वारंटीन गाइडलाइन्स का अनुपालन करना होगा। इस पर सम्यक विचारोपरान्त उपचार प्रदान करने वाले चिकित्सक के द्वारा होम आइसोलेशन की अनुमति दी जाएगी।
  • रोगी एवं देखभाल करने वाले व्यक्ति को संलग्नक-02 के अनुसार निर्देशों का अनुपालन करना होगा।
  • जिले मुख्य चिकित्साधिकारी के द्वारा गठित टीम द्वारा होम क्वारंटीन की सुविधाओं का निरीक्षण करने के उपरान्त ही रोगी को होम आइसोलेशन में भेजा जाऐगा।
 

चिकित्सा की आवश्यकता की स्थिति :

  • रोगी एवं देखभाल करने वाला व्यक्ति नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य का अनुश्रमण करेगे। निम्नलिखित गम्भीर गक्षण विकसित होने पर चिकित्सीय सहायता हेतु जनपद के स्वास्थ्य अधिकारियों/ नियत्रण कक्ष से सम्पर्क किया जायेगा।
  • सांस लेने में कठिनाई
  • शरीर में आक्सीजन की संतप्ता (Saturation)में कमी (Sp02 95%)
  • सीने में लगातार दर्द/भारीपन होना
  • मानसिक भ्रम की स्थिति अथवा सचेत रहने में असमर्थता।
  • बोलने में समस्या।
  • चेहरे या किसी अंग में कमजोरी।
  • होठों/चेहरे पर नीलापन।
क्र0स0 कोविड-19 अनलॉक 4 एवं होम आइसोलेशन सम्बन्धी प्रश्नोत्तरी
प्र0-1 उत्तराखण्ड में प्रवेश हेतु क्या नियम/शर्तें है
उ0 उत्तराखण्ड में प्रवेश हेतु पंजीकरण अनिवार्य है।
प्र0-2 पंजीकरण कहां कराना है
उ0 राज्य सरकार द्वारा जारी स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल / पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।
प्र0-3 क्या मुझे आने जाने हेतु अलग-अलग पंजीकरण कराना पड़ेगा
उ0 05 दिवस तकं आवाजाही करने पर एक ही बार पंजीकरण कराना होगा
प्र0-4 क्या पंजीकरण कराने का कोई शुल्क है
उ0 नहीं
प्र0-5 क्या फोन में आरोग्य सेतु एप्प होना अनिवार्य है
उ0 हां
प्र0-6 क्या कोविड टेस्ट का मुझे स्वयं भुगतान करना होगा यदि हाँ तो कितना
उ0 उत्तराखण्ड प्रवेश हेतु पंजीकरण अनिवार्य है, कोरोना टेस्ट की ता नही है, यदि आप प्र चिकित्सालय में कोरोना टेस्ट कराते है तो आपको स्वयं भुगतान करना होगा, सरकार द्वारा चिन्हित स्थानों पर इसका परीक्षण निःशुल्क है।
प्र0-7 यदि मैं तीन दिवस के लिये उत्तराखण्ड आना चाहूँ तो क्या मुझे क्वारटीन किया जायेगा
उ0 नहीं,(सात दिवस तक आवाजाही में क्वारटीन की कोई बाध्यता नहीं है)
प्र0-8 यदि मैं सात दिवस के लिये उत्तराखण्ड आना चाहूँ तो क्या मुझे क्वांरटीन किया जायेगा
उ0 नहीं, सात दिवस तक आवाजाही में क्वारटीन की कोई बाध्यता नहीं है।
प्र0-9 यदि मुझे तीन दिवस पश्चात एक माह के लिये रूकना है तो क्या मुझे क्वांरटीन किया जायेगा
उ0 हाँ, (07 दिवस से अधिक दिवस हेतु आने पर 40 दिवस होम क्वारंटाइन किया जाएगा)
प्र0-10 होम आइसोलेशन की पात्रता क्या है
उ0 ऐसे रोगी के निवास पर स्वयं को आइसोलेट करने एवं परिजनों को क्वारंटीन करने की सुविधा उपलब्ध हो। घर में रोगी के लिये एक शौचालय युक्त कक्ष एवं उसकी देखभालकर्ता के लिये एक अतिरिक्त शौचालययुक्त कक्ष अनिवार्य रूप से होना चाहिए। यदि परिवार में रोगी और देखभालकर्ता के अतिरिक्त अन्य व्यक्ति भी है तो उनके लिये न्यूनतम एक और शौचालययुकत कक्ष होना अनिवार्य है।
प्र0-11 होम आइसोलेशन के लिये पात्र कौन नहीं है
उ0 ऐसे घर जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के या अन्य बीमारी से ग्रसित व्यक्ति है (co morbid)गर्भवती महिलाएं,10 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश एच0आई0वी0,अंग-प्रत्यारोहित, कैंसर का उपचार प्राप्त करन े वाले, कमजोर है, उस घर में होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी।
प्र0-12 यदि मैं अथवा मेरे परिवार का कोई सदस्य पाॅजीटिव पाया जाता है तो उसे कहां रखा जायेगा, हॉस्पिटल अथवा घर में
उ0 यदि मरीज को गम्भीर लक्षण है तो हॉस्पिटल अथवा कम लक्षणों पर कोविड सेंटर पर रखा जायेगा। एसिम्पटोमेटिक मरीज को चिकित्सक के परामर्श से होम आइसोलेट किया जा सकता है
प्र0-13 क्या होम आइसोलेशन के लिय े अलग कमरा एवं शौचालय अनिवार्य है
उ0 हां, होम आइसोलेशन की शर्तों के अनुसार कोविड संकमित व्यक्ति एवं कोविड केयर गिवर हेतु अलग-अलग शौचालय का होना अनिवार्य है।
प्र0-14 क्या होम आइसोलेशन के लिये केयर गिवर होना र्य् है
उ0 हां , होम आइसोलेशन की पात्रता में (बिन्दु संख्या 40 के अनुसार) कोविड संकमित की देखभाल हेतु केयर गिवर का होना अनिवार्य है।
प्र0-15 होम आइसोलेशन की समाप्ति कैसे होगी
उ0 होम आइसोलेशन में रहने वाले यों का होम-आइसोलेशन कोविड पॉजिटिव होने के 40 दिनों के पश्चात तथा पिछले 03 दिनों तक बुखार न आने की स्थिति में समाप्त माना जाएगा। इसके पश्चात अगले 07 दिनों तक रोगी घर पर ही रहकर अपने स्वास्थ्य का अनुश्रवण करेंगे। होम-आइसोलेशन की समाप्ति पर टेस्टिंग की आवश्यकता नहीं है।
प्र0-16 होम आइसोलेशन में मेरी स्वास्थ्य जांच किसके द्वारा की जाये
उ0 समय-समय पर स्वास्थ्य कर्मी द्वारा एवं प्रतिदिन 03 बार केयर गिवर द्वारा तापमान चैक किया जायेगा साथ ही मोबाइल पर डाउनलोड आरोग्य सेतु ऐप पर दिन में दो बार स्वास्थ्य सम्बन्धी सूचना को अपडेट करना होगा। इस ऐप को ब्लूटूथ एवं वाई-फाई के माध्यम से सदैव सकिय रखना होगा। इसके साथ ही स्मार्ट फोन न होने की दशा में रोगी के द्वारा नियंत्रण कक्ष के दूरभाप पर अपने स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी देनी होगी ।
प्र0-17 मैं होम आइसोलेशन में हूँ मुझे और मेरे परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्यायें आ रही है, मैं कहाँ सम्पर्क कर सकता हूँ
उ0 राज्य सरकार द्वारा जारी टोल फी नम्बर पर 104/0135 & 2609500
प्र0-18 होम आइसोलेशन के दौरान क्या मैं अपनी स्वास्थ्य जांच प्राइवेट डॉक्टर द्वारा करा सकता हूँ
उ0 हां स्वयं के खर्च पर प्राइवेट डॉक्टर द्वारा करा सकते है
प्र0-19 मै एवं मेरा देखभालकर्ता क्या परिवार के अन्य सदस्यों से मिल सकता है
उ0 नहीं, आइसोलेशन के दौरान आप और आपका केयर गिवर परिवार के अन्य सदस्यों से नहीं मिल सकता इससे संकमण फैल सकता है
प्र0-20 क्या मुझे अपना तापमान और ऑक्सीजन लेबल प्रतिदिन चैक करना होगा यदि हाँ तो कितना होना चाहिये
उ0 हाँ आपके केयर गिवर द्वारा आपका तापमान प्रतिदिन तीन बार चैक किया जायेगा एवं उसे आरोग्य सेतु एप्प पर भी अपडेट किया जायेगा, (एक स्वस्थ व्यक्ति का तापमान 98.6" फा. एवं ऑक्सीजन मात्रा 98%-400% होती है।)
प्र0-21 हॉस्पिटल में कोरोना इलाज होने पर इसका भुगतान किसके द्वारा किया जायेगा
उ0 कोविड संकमित व्यक्ति का इलाज सरकार के द्वारा सरकारी अस्पताल एवं कोविड केयर सेंटर में निशुल्क किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त आयुष्मान एवं हैल्थ कार्ड के माध्यम से प्राइवेट अस्पताल में निशुल्क इलाज किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त प्राइवेट अस्पताल में सरकार द्वारा निर्धारित दरों पर स्वंय के भुगतान पर इलाज किया जा सकता है।
प्र0-22 क्या टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव होने के पश्चात भी मुझे क्वांरटीन किया जायेगा, यदि हां तो कितने दिवस के लिये
उ0 हाँ, एहतियात के तौर पर 07 दिवस होम क्वांरटीन किया जायेगा।
प्र0-23 मुझे उच्च रक्तचाप (हाई बीपी) एवं शुगर की समस्या है, कोविड पॉजीटिव होने पर क्या मैं होम आइसोलशन हो सकता हूँ
उ0 ऐसे रोगी जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है या अन्य बीमारी से ग्रसित हैं (co morbid) गर्भवती महिलाएं, 40 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश एच0आई0वी0,अंग-प्रत्यारोहित, कैंसर का उपचार प्राप्त करने वाले, कमजोर है, वे होम-आइसोलेशन के लिए पात्र है।
प्र0-24 क्या गर्भवती स्त्री को भी होम आइसोलशन किया जा सकता हैं
उ0 हाँ, ऐसे रोगी जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है या अन्य बीमारी से ग्रसित हैं (co morbid) गर्भवती महिलाएं,10 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश एच0आई0वी0,अंग-प्रत्यारोहित, कैंसर का उपचार प्राप्त करने वाले, कमजोर है, वे होम-आइसोलेशन के लिए पात्र है।
प्र0-25 यदि मै तीन दिवस के लिये अन्य राज्य को जाता हूँ तो क्या वापसी पर मुझे क्वांरटीन किया जायेगा
उ0 नहीं, 05 दिवस से अधिक दिनों अन्यत्र राज्य जाने एवं वापसी पर 10 दिवस होम क्वारंटाइन किया जाएगा
प्र0-26 परिवार के एक सदस्य के कोरोना पॉजीटिव आने पर क्या अन्य को भी होम क्वारटीन किया जायेगा यदि हाँ तो कितने दिवस
उ0 दिवस होम मोलेशन किया जायेगा व प्रत्येक छठे दिवस स्वास्थ्य कर्मी द्वारा जा हुये सदस्यों की स्वास्थ्य जांच जायेगी।
प्र0-27 बच्चे कोविड पॉजीटिव होने पर बच्चे का इलाज कहाँ होगा, होम आइसोलेशन अथवा अस्पताल में
उ0 10 साल से कम आयु के बच्चे को (बिन्दु संख्या 23 की शर्तों को पूरा करने की दशा में) होम आइसोलेशन किया जा सकता है
प्र0-28 टैक्सी बुक कराकर उत्तराखण्ड आने एवं टैक्सी चालक के तत्काल वापस जाने की दशा में भी क्या टैक्सी चालक का कोविड टेस्ट किया जायेगा
उ0 नहीं टेस्ट अनिवार्य नहीं है (परन्तु कोविड सम्बन्धी कोई लक्षण प्रदर्शित होने पर टेस्ट होगा।)
प्र0-29 कितने दिवस के लिये अन्य राज्य जाने एवं वापस आने पर क्वांरटीन की शर्त नहीं है
उ0 05 दिवस
प्र0-30 अस्पताल में पॉजीटिव से रिपोर्ट नेगेटिव आने के पश्चात क्या मुझे होम क्वांरटीन किया जायेगा यदि हाँ तो कितने दिवस
उ0 हाँ आपके केयर गिवर द्वारा आपका तापमान प्रतिदिन तीन बार चैक किया जायेगा एवं उसे आरोग्य सेतु एप्प पर भी अपडेट किया जायेगा, (एक स्वस्थ व्यक्ति का तापमान 98.6" फा. एवं ऑक्सीजन मात्रा 98%-400% होती है।)
उ0 07 दिवस होम क्वारन्टीन
प्र0-31 अस्पताल में पॉजीटिव से रिपोर्ट नेगेटिव आने के पश्चात एवं होम क्वांरटीन की अवधि पूर्ण करने के उपरांत क्या मेरा पुन: कोविड टेस्ट किया जायेगा
उ0 नहीं आवश्यक नहीं है
प्र0-32 मुझे तीन दिन से बुखार हैं मैं अपना कोविड टेस्ट किस प्रकार करा सकता हूँ
उ0 हेल्प लाइन- 404 / 0435 - 2609500 से सम्पर्क करने पर अथवा नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र से सम्पर्क करें
प्र0-33 राज्य के अन्दर ही एक जनपद से दूसरे जनपद जाने पर भी क्या कोविड टेस्ट कराना होगा
उ0 नहीं आवश्यक नहीं, सिर्फ पंजीकरण अनिवार्य है।
प्र0-34 राज्य के अन्दर ही एक जनपद से दूसरे जनपद जाने पर क्या क्वांरटीन किया जायेगा
उ0 नहीं क्वारंटाइन की बाध्यता नहीं है। सिर्फ पंजीकरण अनिवार्य है।
प्र0-35 क्या राज्य में प्रवेश करने हेतु कोविड नेगेटिव टेस्ट की रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य है
उ0 क्या होम आइसोलेशन की पात्रता हेतु क्या कोई एप्प डाउनलोड करना अनिवार्य है
उ0 स्वास्थ्य विभाग के द्रारा जारी किये गये आइसोलेशन ऐप http;//dgmhuk&covid19.in/covid19.apk को मरीज को अपने स्मार्ट फोन पर डाउनलोड करना होगा एवं नियमित रूप से समस्त जानकारी भरनी होगी।
  • 9456596190
  • 18001804375 (टोल फ्री)
  • 9045014752
  • 8791443714
  • 8791261992
  • 9045184752
  • 8791496699